बरगद पेड़ की जानकारी हिंदी में Banyan Tree Information In Hindi

आज की इस पोस्ट में हम बरगद पेड़ की जानकारी हिंदी में बताने वाले हैं अगर आप Banyan Tree Information In Hindi से जुड़ी जानकारी चाहते हैं तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ें

Banyan Tree Information In Hindi

बरगद पेड़ हमारे जीवन में बहुत लाभदायक होता है इसे हर जगह अलग-अलग नामों से भी जाना जाता है. जेसे बर, बरगट, बरगद, बट या वट वृक्ष भी कहा जाता है.

बरगद पेड़ की जानकारी हिंदी में Banyan Tree Information In Hindi

आपने अपने घरों के आसपास या मंदिर मैं विशालकाय बरगद का पेड़ देखा होगा गांव में अक्सर ज्यादातर बरगद के पेड़ देखने को मिलते हैं.

घर की महिलाएं ज्यादातर बरगद पेड़ की पूजा करती है सावित्री ब्रत की पूजा के दौरान बरगद पेड़ की पूजा की जाती है. आयुर्वेद का मानना है की बरगद पेड़ की औषधि कई बीमारियों का इलाज कर सकती हैं.

लैटिन में Ficus Benghalensis इत्यादि बरगद का वृक्ष बहुत विशाल होता है और इसमें लम्बे तंतु होते हैं जो पेड़ से जमीन तक आते हैं . बरगद के पत्ते गोल और अण्डाकृति के होते हैं .

इसके फल लाल रंग के होते हैं जो इसके पिंड में से निकलते हैं. इसकी शाखाओं में से लाल रंग के अंकुर निकलते हैं. जिन्हे बड़ की जटा कहते हैं.

गुण, दोष और प्रभाव

आयुर्वेदिक मत के अनुसार बरगद के वृक्ष का हर एक हिस्सा कसेला, मधुर, शीतल, आँतों का संकोचन करने वाला होता है. और यह कफ, पित्त और व्रणों को नष्ट करने वाला होता है. बरगद वमन, ज्वर, योनिदोष, मूर्च्छा और विसर्प में लाभदायक है.

बरगद के फूल पत्ते पसीना लाने वाले और कोमल पत्ते कफनाशक होते हैं | इसकी छाल स्तम्भक होती है | दांत खराब हो जाने पर बरगद के दूध का फोया रखने से दंतशूल ठीक हो जाता है | कमर के दर्द और संधियों के सूजन पर इसके दूध का लेप करने से फायदा होता है.

बरगद के उपयोग:- चोट – इसका दूध चोट और मोच पर लगाने से लाभ मिलता है | गठिया – गठिया की सूजन पर दूध का लेप करने से पीड़ा कम होती है | फोड़े – इसके पत्तों का पुल्टिस बनाकर पीबदार फोड़ों पर बाँधने से फोड़े जल्दी पकते हैं.

वीर्य की कमजोरी – इसके क्वाथ या रस को गाढ़ा करके उसमे पौष्टिक औषधियाँ मिलाकर खाने से वीर्य की कमजोरी और मूत्रकृच्छ मिटता है.

रक्त प्रदर – रक्त प्रदर, खुनी बवासीर इत्यादि में रक्त का बहना न रुकने पर बरगद के दूध की 5 – 7 बूँदें दिन में 3 – 4 बार देने से रक्त का बहना बंद हो जाता है.

Leave a Comment