Occupation Meaning in Hindi, Occupation का मतलब क्या है

स्वागत है आप सभी का इस पोस्ट में,आज हम इस पोस्ट में Occupation का मतलब हिंदी में लगभग पूर्ण रूप से बताया जा रहा है Occupation Meaning in Hindi के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

Occupation Meaning in Hindi
Occupation Meaning in Hindi

Occupation का मतलब क्या है (Occupation Meaning in Hindi)

Occupation को इस तरह से आसान भाषा में समझा जा सकता है जब कोई विद्यार्थी किसी भी क्लास में प्रवेश लेने के लिए आवेदन करता है या नौकरी के लिए फार्म भरता है तो उसमें एक विकल्प होता है जिसमें अभ्यार्थी के माता,  पिता,पैरेंट्स क्या कार्य करते हैं उसके बारे में पूछा जाता है,जैसे सरकारी नौकरी करते हैं, या प्राइवेट नौकरी करते हैं, या कृषि करते हैं ,या व्यवसाय करते हैं इसे Occupation  व्यवसाय करते हैं।

व्यवसाय के प्रकार

 मुख्य रूप से तीन भागों में बांटा जा सकता है।

1• औद्योगिक व्यवसाय, Industrial Occupation.

2• वाणिज्यिक व्यवसाय, Commercial Occupation.

3• सेवा व्यवसाय, Service Occupation.

1• औद्योगिक व्यवसाय, Industrial Occupation:-

औद्योगिक व्यवसाय में कार्य करने वाले व्यक्तियों के द्वारा ऐसे वस्तुओं को तैयार किया जाता है जिसे हम अपनी आंखों से देख सकते हैं और अपने हाथों से छू सकते हैं।

इसमें कई वस्तुओं को मिलाकर या जोड़कर एक वस्तु का निर्माण होता है।

औद्योगिक व्यवसाय के भी तीन भाग होते हैं

A• उत्खनन व्यवसाय किसे कहते है:-

उत्खनन व्यवसाय में कार्य करने वाले लोगों के द्वारा जमीन के अंदर से और समुद्र में से जो है कच्चे वस्तुओं को निकाला जाता है जैसे कच्चा तेल, लकड़ी ,कोयला ,अन्य खनिज पदार्थ निकाले जाते हैं उसे उत्खनन व्यवसाय करते हैं

B• विनिर्माण व्यवसाय किसे कहते हैं:-

इस विभाग में कार्य करने वाले लोगों के द्वारा पृथ्वी के नीचे और समुद्र से निकले वस्तुओं का शुद्धीकरण किया जाता है जिससे इसका आगे उपयोग किया जा सके उस योग्य तैयार किया जाता है इसे ही विनिर्माण व्यवसाय कहते हैं

C• निर्माण व्यवसाय किसे कहते हैं:-

इसमें तैयार किए गए वस्तुओं का उपयोग किया जाता है जैसे ईट, सीमेंट ,आदि से ,हॉस्पिटल का निर्माण ,सड़क का निर्माण ऊंचे भवनों का निर्माण आदि कार्य किए जाते हैं उसे निर्माण व्यवसाय करते हैं।

2• व्यावसायिक व्यवसाय:-

व्यावसायिक व्यवसाय के अंदर विनिर्मित व्यवसाय के द्वारा तैयार किए गए वस्तुओं को खरीदना और तैयार किया वस्तुओं को बेचना इसके अंतर्गत आते हैं।

इस व्यवसाय में जिसे जिस वस्तु की आवश्यकता होती है उसके पास आवश्यक वस्तुओं को उपलब्ध कराना है जिसका वे अपने दैनिक जीवन में उपयोग कर सकें इसे ही व्यावसायिक व्यवसाय करते हैं।

3• सेवा व्यवसाय क्या है:-

इसमें कोई भी व्यक्ति किसी सामान को देने की आवश्यकता नहीं होती है और इसमें सेवा प्रदान करने के नियम दिए गए हैं सेवा देने वाले व्यक्ति को कार्यकर्ता कहा जाता है

इसमें कार्यकर्ता के द्वारा दो प्रकार की सेवा होते हैं पहला प्रत्यक्ष दूसरा प्रत्यक्ष होता है।

A• प्रत्यक्ष सेवा:-

यह एक व्यक्तिगत सेवा होता है इसके लिए जो लोग पैसा देते हैं उनको सेवा प्रदान किया जाता है इस सेवा को लेने वाले व्यक्ति  को पैसा देना पड़ता है।

जैसे,

•परिवार के लोगों के लिए चिकित्सा।

 •  निजी शिक्षा के लिए।

• और भी कई प्रकार की सेवा प्रदान होती है।

B• अप्रत्यक्ष सेवाएं:-

यह साधारणतह आम लोगों को मिलने वाले सेवा है या उपयोग करने वाले व्यक्तियों के द्वारा दिए जाने वाले कर के अनुसार सरकार वहन करती हैं।

अप्रत्यक्ष सेवा के उदाहरण,

• सरकारी अध्यापक

• सरकारी अस्पताल के डॉक्टर

• पुलिस अधिकारी

• अन्य सरकारी कर्मचारी

Occupation के महत्व क्या है:-

जीवन चलाने के लिए व्यवसाय बहुत ही आवश्यक होता है क्योंकि व्यवसाय से होने वाले लाभ से ही जीवन के आवश्यक वस्तुओं को खरीद सकते हैं।

व्यवसाय लोगों को दिनचर्या प्रदान करता है इसी के कारण लोग नियम से कार्य करते हैं।

व्यवसाय के अनुसार ही  लोगों को मान सम्मान मिलता है।

व्यवसाय के द्वारा एक व्यक्ति को दूसरे व्यक्ति से जुड़ने और बात करने का मौका मिलता है।

मैं आशा करता हूं कि आपको इस पोस्ट के माध्यम से Occupation  का मतलब समझने में  कोई दिक्कत नहीं हुआ होगा धन्यवाद।

Leave a Comment